प्रदेश के एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में खेल प्रतियोगिताओं का कार्यक्रम घोषित कर दिया गया है। प्रथम चरण में जोन-स्तरीय खेल प्रतियोगिताएँ इंदौर और जबलपुर में 10 से 12 नवम्बर तक होंगी। प्रतियोगिताएँ व्यक्तिगत और सामूहिक स्तर की 16 खेल विधाओं में यह होंगी। इसके बाद राज्य-स्तरीय प्रतियोगिताएँ 14 और 15 नवम्बर को इंदौर और जबलपुर में होंगी।

इंदौर में राज्य-स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं में एथेलेटिक्स, बैण्ड, तैराकी, टेबल-टेनिस, हॉकी, फुटबाल, कबड्डी, खो-खो, हेण्ड-बॉल, बॉस्केट-बॉल, व्हाली-बॉल और ताइकवांडो शामिल है। जबलपुर में 14 नवम्बर को राज्य-स्तरीय प्रतियोगिताओं में कुश्ती, कराते, तीरंदाजी और बॉक्सिंग प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

आदिम-जाति कल्याण विभाग ने विभागीय उपायुक्तों को प्रतियोगिता के आयोजन के संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिये हैं। प्रदेश के 45 आदर्श आवासीय विद्यालयों को इंदौर और जबलपुर जोन में बाँटा गया है। इन विद्यालयों में आदिवासी वर्ग के करीब 13 हजार 500 विद्यार्थी आवासीय सुविधा के साथ अध्ययनरत हैं।

आस्ठान योजना में डीपीआर

प्रदेश में निवासरत आदिवासियों की संस्कृति और उनके देव-स्थलों के संरक्षण के लिये आस्ठान योजना प्रारंभ की गई है। योजना के अंतर्गत आदिवासी समुदायों के कुल देवता और ग्राम देवी-देवताओं के स्थानों में निर्मित देवगुढ़ी, मढ़िया, देवठान के निर्माण और जीर्णोद्धार करने का निर्णय लिया गया है। इन स्थानों पर श्रद्धालुओं के विश्राम के लिये सामुदायिक भवनों के निर्माण तथा उनमें स्थित सभाकक्ष, पेयजल, स्नानागार, शौचालय की व्यवस्था की जा रही है।

आदिम-जाति कल्याण विभाग ने योजनांतर्गत यंग प्रोफेशनल के 3 कंसलटेंट को चयनित स्थानों का निरीक्षण कर डीपीआर तैयार किये जाने का कार्य सौंपा है।