नई दिल्ली ।अगर आपका बचत खाता भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) में है,तब 31 दिसंबर,2019 तक यह काम जरूर कर लें। नहीं तो अपने बैंक खाते में रखे पैसे नहीं निकाल पाएंगे। दरअसल, एसबीआई अपने ग्राहकों के मैगनैटिक स्ट्रिप डेबिट कार्ड को ईएमवी चिप वाले डेबिट कार्ड में बदल रहा है। अगर अभी तक आपने मैगनेटिक स्ट्रिप वाले डेबिट कार्ड को नए कार्ड में नहीं बदलवाया है,तब अब भी आपके पास मौका है। आप अपने होम ब्रांच में जाकर 31 दिसंबर 2019 तक ये काम कर सकते हैं। इसके बाद भी अगर आप ऐसा नहीं करते हैं हैं तो आपका डेबिट कार्ड काम करना बंद कर देगा। एसबीआई ने ट्वीट कर बताया कि जिन ग्राहकों के पास पुराने मैजिस्ट्रिप (मैग्नेटिक) डेबिट कार्ड हैं, उस तुरंत बदलवाना होगा। इसके बदले ग्राहकों को ईएमवी चिप वाला डेबिट कार्ड लेना होगा। इसकी अंतिम तारीख 31 दिसंबर 2019 है।'
बता दें कि अगर आपने ऐसा नहीं किया तो आप अपने पुराने एटीएम से कोई भी काम नहीं कर पाएंगे, क्योंकि बैंकों की एटीएम मशीनें आपके कार्ड को स्वीकार नहीं करेंगी। अगर आपने ईएमवी आधारित चिप कार्ड के लिए आवेदन नहीं किया है तो 31 दिसंबर 2019 से पहले जरूर कर दें। एसबीआई बैंक यह कार्ड आपको फ्री में दे रहा है। रिजर्व बैंक के अनुसार, मैग्‍नेटिक स्‍ट्रिप कार्ड अब पुरानी टेक्‍नोलॉजी हो चुकी है। ऐसा कार्ड बनना अब बंद भी हो गया है, क्‍योंकि ये कार्ड पूरी तरह से सुरक्षित नहीं थे, जिसकी वजह से इन्‍हें बंद कर दिया गया है। अब इनकी जगह ईएमवी चिप कार्ड को तैयार किया गया है। सभी पुराने कार्ड को नए चिप कार्ड से बदला जाएगा। ईएमवी चिप वाले डेबिट या क्रेडिट कार्ड पर एक छोटी चिप लगी होगी, जिसमें आपके खाते की पूरी जानकारी होती है। यह जानकारी इनक्रिप्टेड होती है, ताकि कोई इसके डाटा की चोरी न कर सके। ईएमवी चिप कार्ड में ट्रांजैक्‍शन के दौरान यूजर को सत्‍यापित करने के लिए एक यूनिक ट्रांजेक्‍शन कोड जनरेट होता है, जो वेरिफिकेशन को सर्पोट करता है जबकि मैग्‍नेटिक स्‍ट्राइप कार्ड में ऐसा नहीं होता है।