बस्तर. छत्तीसगढ़ के बस्तर में चैत्र नवरात्र की सप्तमी में यहां की आराध्य मां दंतेश्वरीके दरबार के कपाट बंद रखे गए. कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए ये निर्णय लिया गया. ताकि मंदिर में भीड़भाड़ इकट्ठी न हो. इस बात का ख्याल रखते हुए टेम्पल कमेटी ने बस्तर के सभी देवी मंदिरों के कपाट लॉकडाउन तक बंद रखने का निर्णय लिया है. यही वजह है कि इस बार चैत्र नवरात्र में मंदिर में किसी भी तरह की चहल पहल नहीं हैं.

बस्तर में ये पहला मौका है जब यहां की आराध्य मां दंतेश्वरी के मंदिर में सीधे दशर्न लोगों को नवरात्र में नहीं हो सका. आस्था के दरबार में लोगों की हाजिरी लग सके और लोग नवरात्र पर माता के दशर्न कर सकें. इसके टेम्पल कमेटी जगदलपुर द्वारा एक विशेष व्यवस्था की गयी है. मां दंतेश्वरी की आरती का एक वीडियो सोशल मीडिया के जरिए पोस्ट किया है. ताकि लोग नवरात्र में घर बैठे माता के दशर्न करने के साथ ही उनकी आरती के दशर्न कर सकें.

सप्तमी और अष्टमी में ये व्यवस्था
आज सप्तमी और बुधवार को अष्टमी को मंदिर के बंद कपाट के बीच माता की विशेष पूजा होगी, जिसे मंदिर के पुजारी के अलावा राजपरिवार के सदस्य कमलचंन्द भंजदेव द्वारा संपन्न कराया जाएगा. चूंकि नवरात्र आस्था का पर्व है और लोगों को निराश न होना पड़े इसलिए टेम्पल कमेटी ने विशेष तरह की व्यवस्था करते हुए आरती का एक वीडियो तैयार करवाया है.